सेवाएँ

दिल्ली में यौन और लिंग आधारित हिंसा (एसजीबीवी) से प्रभावित लोगों को व्यापक रूप से मुफ्त और गोपनीय इलाज़

  • चोट और दर्द का आकलन और प्रबंधन।
  • एचआईवी के बाद एक्सपोजर प्रोफिलैक्सिस (पीईपी) का प्रावधान।
  • आपातकालीन गर्भनिरोधक या अंतर्गर्भाशयी डिवाइस (आईयूडी) के द्वारा अवांछित गर्भावस्था होने पर रोकथाम।
  • गर्भनिरोधक परामर्श और गर्भ निरोधकों का सुझाव।
  • यौन संचारित संक्रमणों (एसटीआई) की पहचान, रोकथाम और उपचार।
  • हेपेटाइटिस बी और टिटनेस के लिए टीकाकरण।
  • पूर्ण फोरेंसिक जांच और साक्ष्य संग्रह।
  • मेडिकल सर्टिफिकेट या मेडिको-लीगल सर्टिफिकेट का प्रावधान और पेशकश।
  • रोगी की जरूरतों के आधार पर विशेष देखभाल के लिए रेफरल, जैसे आपातकालीन चिकित्सा देखभाल, स्त्री रोग और मानसिक रोगों की चिकित्सा।

हमारे यहाँ मनोसामाजिक देखभाल के अलावा, पीड़ितों को विशेष परामर्श सेवा भी दी जाती है, जिसमे उन्हें अपने विचारों और भावनाओं को व्यवस्थित करने और व्यक्त करने में मदद करना, अपराध का एहसास, आत्म-दोष और मानसिक सदमे के लक्षणों पर काबू पाने की दिशा में काम करना, साथ ही आगे क्या करना है इसके बारे में निर्णय लेना और अपने दिन-प्रतिदिन के कामकाज में सुधार के लिए तनाव कम करना और समस्या का हल निकालने के कौशल को विकसित करना शामिल होता है।

समस्या प्रबंधन और संज्ञानात्मक व्यवहार चिकित्सीय देखभाल के सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले तरीके हैं। जबकि अधिकांश यौन और लिंग आधारित हिंसा (एसजीबीवी), से प्रभावित लोग स्वयं या मनोसामाजिक और परामर्श सेवा से ठीक हो जाते हैं। परन्तु कुछ मे पहले से मौजूद मनोरोग की स्थिति या मानसिक समस्याएं हो सकती है, इसलिए कुछ पीड़ितों मे मानसिक बीमारी जैसे गंभीर चिंता विकार, गंभीर निराशा, स्वयं को चोट पहुंचाना या ख़ुदकुशी-संबंधी विचार, पागलपन, अत्यधिक तनाव की समस्या या पोस्ट ट्रॉमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर (PTSD) विकसित हो जाती हैं। इन हिंसा से बचे हुए पीड़ितों के लिए, परामर्श सेवा को पुरे तरीके से प्रोत्साहित किया जाता है और प्रदान किया जाता है, साथ ही आवश्यकता पड़ने पर मनोरोग देखभाल की सुविधा भी प्रदान की जाती है।

मनोसामाजिक सहायता यौन और लिंग आधारित हिंसा (एसजीबीवी), से प्रभावित लोगों को व्यापक गुणवत्तापूर्ण देखभाल प्रदान करने का एक प्रमुख अंग है। इस परियोजना के अंतर्गत, मानसिक स्वास्थ्य टीम (परामर्शदाता और सामाजिक कार्यकर्ता) द्वारा प्रदान किया जाने वाला मनोसामाजिक समर्थन निम्न प्रमुख सिद्धांतों पर आधारित होता है: गोपनीयता सुनिश्चित करना, पसंद को पुनः स्थापित करना, सम्मान, धैर्य, सहानुभूति, किसी भी प्रकार का निर्णय न करना, पीड़ित को अपनी भावना व्यक्त करने की अनुमति देना और उन्हें ध्यानपूर्वक सुनना।
हमारे सलाहकार हिंसा से प्रभावित लोगों को सामान्य भावनात्मक, मनोवैज्ञानिक और व्यवहारिक प्रतिक्रियाओं के बारे में मनोशिक्षा प्रदान करते हैं और उन को अपनी ताकत को पहचानने और सामने लाने मे सहायता करते है यह ताकत स्वयं की देखभाल और समस्याओं का समाधान निकालने मे उनकी मदद करती है।

हिंसा से बचे हर एक व्यक्ति के साथ जोखिम का आकलन किया जाता है जिसमे ख़ुदकुशी-संबंधी आशंका का आकलन और सुरक्षा योजना शामिल होता है। क्लिनिक के सामाजिक कार्यकर्ता इन लोगों की व्यावहारिक जरूरतों का आकलन करते हैं और हमारे क्लिनिक और अन्य बड़े समुदाय की सेवाओं के बीच एक माध्यम का काम करते हैं और लोगों का मार्ग दर्शन करते है। इसके अलावा हिंसा से प्रभावित लोगों को कानूनी सहायता, व्यावसायिक प्रशिक्षण, लंबे समय तक के लिए आश्रय का प्रबंध और महिलाओं और बच्चों के लिए काम करने वाले मौजूदा आयोगों और गैर सरकारी संगठनों तक पहुंचने के लिए सहायता दी जाता है। इन लोगो को दी जाने वाली सहायता इनके लिए उपयोगी हो रही है या नहीं, इसका आकलन करने के लिए नियमित रूप से जाँच की जाती है।